अधिकारी खा रहा है दर दर की ठोकरें…..


नारी ब्यूटी रिपोर्ट/ सिमरन….. मुझे मेरी रिटायरमेंट की राशि देने के लिए सरकारी दफ्तरों और अधिकारियों के काटने पड़ रहे है चक्कर मगर कोई सुनाई नही यह वाक्य गत वर्ष उप दमकल केंद्र लाडवा में इंचार्ज पद पर अपनी सेवाएं दे चुके दमकल विभाग के सेवनिर्वत अधिकारी राम कुमार ने कहे। राम कुमार ने बताया कि 30अप्रैल 2018 को सेवानिर्वत होने पर मुझे मिलने वाली राशि यह कहकर रोक दी कि सर्विस के दौरान आप पर लगे कुछ आरोपो के फैसले के बाद ही आपकी राशि दी जा सकती है।सीईओ नगर परिषद द्वारा जांच पड़ताल करने के उपरांत मेरे ऊपर लगे सभी आरोप निराधार साबित होते हुए 27 नवंबर 2018 को उपायुक्त महोदय द्वारा कलीन चिट देकर मुझे मेरी राशि दिए जाने सचिव नगर पालिका लाडवा को आदेश जारी कर दिए गए मगर सचिव ने सभी आदेशो को दरकिनार करते हुए सचिव थानेसर के पास अधिकार होने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया।जिसके बाद पीड़ित ने अधिकारीयों के अनेक चक्कर काटे मगर अधिकारी टालमटोल करते रहे तो पीड़ित ने दोबारा उपायुक्त को लिखित रूप में अपील लगाई पर कोई सुनवाई नही हुई तो मजबूरन पीड़ित राष्ट्रीय अनसूचित जाति एवं जन जाति आयोग के दरबार मे पहुंच गया जिससे कार्यवाही अमल में तो आई मगर विभाग अधिकारियों ने एक बार फिर उनके चक्कर लगवाने शुरू करवा दिए। आज पीड़ित अपनी राशि पाने के लिए दर दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं पीड़ित ने प्रशासन और सरकार से मांग की है कि उन्हें उनकी राशि दिलवाई जाए ताकि वो अपने परिवार का गुजर बसर कर सकें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *